न्यूयॉर्क-अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प से बांग्लादेश पीएम शेख हसीना वाजिद कोई उम्मीद नही रखती है.समाचार एजेंसी रायटर्स को इंटरव्यू में उन्होंने इस तरह की बात कही है.

बांग्लादेश पीएम ने ट्रंप से एक टेलीफ़ोन वार्ता के बारे में इंटरव्यू में कहा,”उन्होंने(ट्रम्प)पूछा है आपका देश?”.

इस सवाल के ज़बाब पर मैंने कहा,”सब अच्छा चल रहा है लेंकिन इस समय हमारा देश म्यांमार से आ रहे रिफ्यूजी की समस्या से जूझ रहा है”

इसपर डोनाल्ड ट्रम्प ने प्रतिक्रीय देते हुए कहां”अमेरिका तो पहले ही घोषित कर चूका है वो अपने यहाँ रिफ्यूजी को आने नही देगा”.

अमेरिकी राष्ट्रपति से टेलीफोन वार्ता का खुलासा करने के बाद उन्होंने रायटर्स को दिए इंटरव्यू में कहा,”मैं ऐसे में डोनाल्ड ट्रम्प से क्या उम्मीद कर सकती हु,वो तो पहले ही अपने दिमाग की बात कह चुके है..तो मैं अब क्यों उनसे उम्मीद करुँगी?”.

बांग्लादेश गरीब देश है लेकिन मजबूरो की मदद करेंगे
बंगलदेश पीएम ने कहा,”ये बात सही है कि बांग्लादेश अमीर देश नही है लेकिन अगर हम 16 करोड़ लोगों को खिला सकते हैं तो 5-7 लाख और लोगों को भी. हम ये बिलकुल कर सकते हैं”.

वही म्यांमार की काउंसलर आंग सान सू ची ने जनता को संबोधन में रोहिंग्या समुदाय के खिलाफ कार्यवाई पर अपने देश का पक्ष रखा,उन्होंने पहले लचीला रुख रखते हुए रोहिंग्या समुदाय को वापस देश में बसाने का वादा किया.

उन्हने मानवाधिकार उल्लंघन की बात भी दबी जुबान में मानी वही म्यांमार सुरक्षा बलों की कार्यवाई को रोहिंग्या के विद्रोही गुटों द्वारा पुलिस चौकियो पर हमले के बाद सुरक्षा के तहत की गयी कार्यवाई बताया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here