लंबे इंतजार के बाद आख़िर पाकिस्तान में देश का प्रधानमंत्री इमरान खान को चुन लिया गया है। हालांकि ये महज़ एक औपचारिकता ही मानी जा रही थी कि वो प्रधानमंत्री बनेंगे। उनके बारे में चुनाव के बाद ही तय हो गया था कि वही प्रधानमंत्री बनेंगे। पाकिस्तानी संसद के निचले सदन में कस बारे मैम वोटिंग हुई। इस वोटिंग में इमरान ने एक तरफा जीत हासिल की। इमरान ने पकोस्तानी मुस्लिम लीग-नवाज़ के नेता शाहबाज शरीफ को मात दी। इमरान अब प्रधानमंत्री हो गए हैं लेकिन वो शपथ शनिवार यानी कि कल लेंगे।


नेशनल असेंबली के स्पीकर असद कैसर ने बताया कि इमरान को 176 वोट मिले हैं जबकि शाहबाज़ को 96 सदस्यों ने वोट किया। सलिये एलान किया गया कि इमरान ही विजेता हैं। बिलावल भुट्टो जरदारी की अगुवाई वाली पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया, बिलावल की पार्टी के वोटिंग में हिस्सा न लेने की वजह से मामला एक तरफ़ा हो गया। अगर बिलावल की पार्टी शाहबाज़ के पक्ष में वोट कर देती तब शायद मुक़ाबले में कुछ दिलचस्पी बढ़ सकती थी।


नतीजों की घोषणा जैसे ही हो गयी वैसे ही PML-N के सांसदों ने इमरान के खिलाफ जमकर नारेबाज़ी की। अगर सभी सदस्य वोटिंग करें तो कुल 172 वोटों की ज़रूरत होती है। परंतु कई सदस्यों ने वोटिंग में भाग नहीं लिया इस वजह से बहुमत की संख्या काफ़ी कम रह गयी। पीपीपी के सांसद वोटिंग प्रक्रिया के दौरान बैठे रहे। जमात-ए-इस्लामी ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया.


सूत्रों के अनुसार शरीफ़ कोशिश करते रहे कि किसी तरह बिलावल भुट्टो मां जाएं और वोटिंग पर राज़ी हो जाएं लेकिन वो राज़ी नहीं हुए।उन्हें मनाने के लिए पूर्व स्पीकर अयाज़ सादिक़ उनकी सीट तक आ गए लेकिन बिलावल राज़ी नहीं हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here